Saturday, 11 January 2014

कभी कभी मेरे दिल में (2)

2.

कभी कभी मेरे दिल में, खयाल आता है,
के मिल ज़ाए वोह अभ्र, जो लापता था सदियोंसे
उसी मुरझाए मोड पर जहाँ खुदा से नाता तोड दिया था मैने...

दे दे इन आखों में जीने की नमी,
कुछ गर्म सांसे,
कोई उडनेकी तमन्ना...
बतलादे जरा.. नही होता भगवान,
पर खोई हूई चीजे दिलाती है जिंदगी....

कभी कभी मेरे दिल में....

-बागेश्री

1 comment:

  1. पर खोई हुई चीजे दिलाती है जिंदगी…… yess
    this is just one of your lines.
    All the words deserve a spontaneous "wow !".
    The stuff competes with the best in the field....

    ReplyDelete